ITI के बाद क्या करें | Carrier option after ITI 2022

76 / 100

ITI के बाद क्या करें

दोस्तों, जब हम लोग आईटीआई कोर्स कंप्लीट कर लेते है तो मैं आपको बता दूँ कि हमारे पास चार रास्ते होते हैं, एक apprentice, दूसरा जॉब, तीसरा बिज़नेस और चौथा हायर क्वालिफिकेशन यानी आगे की पढ़ाई। तो ये चार विषय है दोस्तों अगर आप इन चार विषयों को।अच्छे से समझ गए तो मेरे ख्याल से आप अपने सही रास्ते को चुन सकते हैं, अपना फ्यूचर बना सकते हैं तो मैं इन चार सब्जेक्ट को बिल्कुल ही अच्छे से समझा दूंगा, line जरूर थोड़ा लंबा हो जाएगा लेकिन बाद में सारे clear कर दूंगा। बस आप बने रहिए हमारे साथ। जी हाँ दोस्तों तो बात करता हूँ सबसे पहले।

ITI के बाद क्या करें

प्रिंट इसके बारे में दोस्तों, आईटी के अभ्यर्थी, सबसे ज्यादा अपरेंटिस जॉब के उत्सुक होते हैं। या यूं कहें कि आईटीआई के अभ्यर्थियों के लिए अपरेंटिस करना बहुत ही जरूरी है। वैसे तो कोई भी अपरेंटिस कर सकता है प्रतिवर्ष रेलवे ओएनजीसी, आईओसीएल, ऑर्डिनेंसपीएसयू जैसे एचएएल बी एल में आईटीआई, फिटर, बिल्डर, इलेक्ट्रिशन, टर्नर, मशीनिस्ट जैसे बहुत सी आईटी ट्रेड हैं, जिनके लिए अप्रेंटिस के वेकैंसी आती है। लेकिन वाल ये होता है की हम अपरेंटिस क्यों करे? कहा से करे कोई फायदा होगा। इसका आगे क्या लाभ है इसका?

तो आज हम आपको इस line में बताएंगे तो अपरेंटिस से संबंधित जो पहला सवाल हैं की हम अपरेंटिस क्यों करे तो अप्रेंटिसशिप करने से एक अनुभव मिल जाता है। डिपार्ट्मेन्ट आपको 70% प्रैक्टिकल नॉलेज देता है और 30% आपको थ्योरिटिकल नॉलेज देता है तो आपको यहाँ सैलरी भी मिलती है।जिसे हम लोग कहते हैं सैलरी की अगर बात आई है तो यहाँ पर मैं थोड़ा सा क्लियर कर देता हूँ की आईटीआई में अपरेंटिस की मिनिमम सैलरी 8000 है और मैक्सिमम सैलरी 16,000 तक मिलती है। ये कंपनी पर डिपेंड होता हैं की वो आपको कितनी सैलरी देती है।

तो भाई होता क्या है?की। इसमे आपको काम के साथ साथ ट्रेनिंग भी मिलती है और सैलरी भी मिलती है, तो अनुभव पाने के लिए अपरेंटिस बहुत ही जरूरी है। अब अपरेंटिस से संबंधित दूसरा सवाल है कि अप्रेंटिस कहाँ से करें? तो यहाँ मैं आपको बता दूँ की अपरेंटिस आप कहीं से भी कर सकते हैं।चाहे गवर्नमेंट सेक्टर हो या प्राइवेट सेक्टर हो, कहीं से भी अप्रैंटिस कर सकते हैं। इसमें कोई दिक्कत वाली बात नहीं है। लेकिन सवाल ये होता है की फायदा किस क्षेत्र में होगा? तो आपको बता दूँ कि फायदा आपको गवर्नमेंट सेक्टर से होगा। कुछ प्राइवेट कंपनी भी है जिसमें आपको फायदा होगा, वो भी हम बता देंगे।

गवर्नमेंट सेक्टर में अगर अप्रैंटिस की बात की जाए तो इसमें ये होता है की यदि आपने अपने डेस्क रेलवे, एनटीपीसी, आइओसीएल, भेल, डीआरडीओ, एचएएल, ओएनजीसी जैसे कंपनियों से करते हैं तो इसमें आपको कोटा मिलता है यानी छूट मिलती है। जैसे।एज में नंबर मैं उस कंपनी की वैकेंसी यानी वह लोग जिन्होंने वहाँ पर अपरेंटिस की है उनको वह कंपनियां पहले देती है। जैसे रेलवे में ग्रुप डी की वेकैंसी का 20% कोटा होता है। तो आप समझ सकते हैं कि बेनिफिट। की बेनिफिटस गवर्नमेंट सेक्टर में ज्यादा होता है।

अप्रेंटिस वालों का प्राइवेट सेक्टर की अगर बात की जाये तो सिर्फ कुछ ही कंपनियां हैं जो अपने यहाँ अपने टेस्ट करवाने के बाद उन अपरेंटिस वालों को तवज्जो देती है। वहीं कंपनी है टाटा पावर, टाटा स्टील, रिलायंस, बजाज इलेक्ट्रिकल्स जैसी कंपनियों में।प्रिंट इस करने का बहुत ही फायदा होता है सिर्फ ऑटोमोबाइल कंपनी में अप्रेंटिस मत करना बाकी कहीं भी अप्रैंटिस कर लेना, क्योंकि वहाँ अप्रेंटिस करने का कोई भी फायदा नहीं होता है।

यदि आपके मन में अपरेंटिस से संबंधित कोई भी सवाल है तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके।मुझसे पूछ सकते हैं तो अब बात करता हूँ नौकरियों के बारे में तो सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों में आईटीआई प्रशिक्षित लोगों की काफी मांग रहती है, जैसे इंडियन आर्मी, इनलैंड वॉटरवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया ऐंड आर एच एम रेल इंडिया टेक्निकल एंड इकोनॉमिक सर्विस।इंडियन रेलवे, डीआरडीओ, डीएमआरसी और पीएसयू कंपनी में आपको अच्छे अवसर मिलते रहते है। तो अगर आप घर में आर्थिक रूप से सक्षम हैं तो आप डायरेक्ट जॉब की प्रिपरेशन में लगकर इनके एग्ज़ैम को क्रैक कर सकते हैं। आसानी से जा प्राप्त कर सकते हैं यदि आप घर में।

आर्थिक रूप से सक्षम है। अगर नहीं है तो आप किसी प्राइवेट सेक्टर में जॉब करके कॉम्पिटिशन की तैयारी कर सकते हैं और सबसे अच्छा रहेगा की आप आप प्रिंट इसके साथ साथ ही जॉब की प्रिपरेशन और तैयारी करते रहे। प्राइवेट सेक्टर में हमारे देश में किसी भी आईटीआई फ्रेशर कोऐवरेज 10,000 से 20,000 पर मंथ सैलरी मिलती हैं। प्राइवेट सेक्टर में अगर कंपनियों की बात की जाए तो हैवल्स, बजाज, रिलायंस, हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड, लार्सन ऐंड टुब्रो, टीसीएस, विप्रो जैसी बहुत सी अच्छी प्राइवेट कंपनी है जहाँ आप जॉब कर सकते हैं तो अब बात करता हूँ।

अपना तीसरा सब्जेक्ट यानी खुद के बिज़नेस के बारे में तो नौकरी के लिए आवेदन के अलावा आप खुद का बिज़नेस भी स्टार्ट कर सकते हैं। ट्रेनिंग लेने के बाद आपको अपने व्यवसाय से जुड़ी हर काम की सामाजिक हासिल कर लेनी होगी, लेकिन अपनी पूंजी लगाकर।व्यवसाय खड़ा करना हमेशा चुनौतीपूर्ण होता है। इसमें पूंजी डूबने की भी संभावना बनी रहती है। अगर आप यह खतरा उठा सकते हैं तो जरूर आपको इस क्षेत्र में कोशिश करनी चाहिए।

सब्जेक्ट नंबर फ़ोर यानी हियर क्वालिफिकेशन आगे की पढ़ाई के बारे में।सो फ़्रेंड्ज़ आप लोगों में बहुत से स्टूडेंट ऐसे हैं जो आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं क्योंकि उनको बड़ा ऑफिसर बनना है या और अच्छी सैलरी पाने के लिए वो लोग आगे की पढ़ाई करते हैं तो उनके लिए मैं आपको बता दूँ कि आप आगे की पढ़ाई के तौर पर डिप्लोमा।सीटीआइ बी टेक कर सकते हैं। वो कैसे मैं बताऊँगा। अगर आप टीचर बनना चाहते है आप को पढ़ाने का शौक है, तो आईटीआई के बाद आप सीटीआइ कर सकते हैं। सीटीआइ की फुल फॉर्म क्राफ्ट ट्रेनिंग इंस्ट्रक्टर होता है।

ये 1 साल का कोर्स होता है। अगर आप जेईई बनना चाहते हैं।तो आप डिप्लोमा कर सकते हैं जो कि 3 साल का होता है, लेकिन इसमें आपको 1 साल की छूट मिल जाती है जोकि फिर आपको ये 2 साल का पड़ जाता है। बीटेक अगर करना है तो सरकार के नए नियम के अनुसार आईटीआई की मान्यता इंटर के बराबर कर दी गई है, लेकिन उसके लिए आपको।ऐन आईओएस मैं अप्लाई करने के बाद एक या दो पेपर देने होते है।

उसके बाद आपको इंटर की मार्कशीट मिल जाती है। उससे आप डायरेक्ट बीटेक में एंट्री कर सकते हैं और इस बारे में यदि आपको कोई जानकारी चाहिए तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके मुझसे पूछ सकते हैं। सो अपना बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद।तो आगे आने वाले समय में आईटीआई और जॉब से रिलेटेड और website देखने के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर दीजिये। थैंक यू।

Leave a comment